Applications Open: Feminist Leadership, Movement Building and Rights Institute - Hindi

3 July 2018

नारीवादी नेतृत्व, आंदोलन निर्माण और अधिकार प्रशिक्षण- हिन्दी

सितम्बर 3 - 7, 2018

नई दिल्ली

 

ऍप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करने के लिये यहाँ क्लिक करें

 

कृपया अपने आवेदन पत्र को flmbari.hindi@creaworld.org पर ई-मेल करें 

या

इस पते पर पोस्ट करें:

क्रिया, 7 मथुरा रोड, जंगपुरा-बी, नई दिल्ली 110014,

फोन: 011-24377707 / 24377700

या

इस नंबर पर फैक्स करें: +91-11-24377708

 

आवेदन की अंतिम तिथि: जुलाई 20, 2018

 

नारीवादी नेतृत्व, आंदोलन निर्माण और अधिकार पर यह प्रशिक्षण पांच दिन तक हिंदी में चलने वाला आवासीय कार्यक्रम है| यह क्रिया, नई दिल्ली द्वारा आयोजित और संचालित किया जा रहा है|

 

इस कड़ी का यह पांचवा प्रशिक्षण कार्यक्रम, नारीवादी नेतृत्व, पैरवी और सामाजिक परिवर्तन के लिए संगठनात्मक शक्ति व आन्दोलन बढ़ाने की रणनीतियों को मजबूत करने के उद्देश्य से  तैयार किया गया है| यह कार्यशाला भारत की उन  सभी गैर सरकारी संस्थाओं में कार्यरत महिलाओं के लिये व महिला मुद्दों से जुड़े स्वतंत्र एक्टिविस्ट के लिये है जो कि अपनी संस्था में प्रमुख के स्तर पर या मध्य-स्तर पर नेतृत्व की भूमिका में कार्य करती हैं| 

 

प्रशिक्षण विषय

यह प्रशिक्षण विभिन्न मुद्दों को समझने, उन्हें पहचानने, उनमें परस्पर सम्बन्ध देखने और चुनौती देने के साथ प्रतिभागियों को महिला मानव अधिकार के मुद्दे के साथ जोड़ने में भी मदद करेगा | इस प्रशिक्षण में चर्चा किये जाने वाले मुद्दे हैं:

  • नेतृत्व
  • नारीवाद 
  • नारीवादी नेतृत्व
  • सत्ता 
  • पित्रसत्ता
  • महिला हिंसा 
  • जातिप्रथा व जेंडर
  • महिला आन्दोलन    

 

इस पूरे प्रशिक्षण के दौरान, नारीवादी कार्यकर्त्ता और नारीवाद से जुड़े विभिन्न मुद्दों के जानकार व्यक्तियों द्वारा, प्रशिक्षण, चर्चा, समूह में बातचीत, मुद्दों पर गहरी सोच बनाने वाली विभिन्न प्रकार की अध्ययन प्रणालियों  के साथ फिल्मों का उपयोग भी किया जायेगा|

 

2017 के प्रशिक्षण में जुड़े प्रशिक्षक 

  • दीप्ता भोग
  • गौरी चौधरी
  • पूर्णिमा गुप्ता
  • कुसुम
  • स्वर्णलता माहिलकर
  • शालिनी सिंह
  • लावण्या मेहरा
  • पुष्पा 
  • नंदिनी राव

 

वर्ष 2017 के प्रशिक्षण के प्रतिभागियों ने अपने अनुभव इस प्रकार व्यक्त किये 

 

सत्ताहीन होने पर भी हमारे पास सत्ता होती है | कई बार व्यक्ति अपनी सत्ताहीनता को सत्ता के रूप में उपयोग करते है" - प्रतिभागी

 

सत्ता ,पित्रसत्ता को जोड़ते हुए कैसे जेंडर के नियम समाज में तरह तरह से इंटरलिंक होकर लागू होते है "- प्रतिभागी

 

प्रतिभागी और चुनाव 

वह सभी व्यक्ति जो खुद को महिला मानते हैं और जो भारत में प्रमुख स्तर पर या मध्य-स्तर पर नेतृत्व की भूमिका में गैर सरकारी संगठनों में या स्वतंत्र एक्टिविस्ट के रूप में महिलाओं से जुड़े मुद्दों पर कार्य  कर रहे हैं, इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिये आवेदन कर सकते हैं | कुल 30 प्रतिभागियों को उनके आवेदन के आधार पर स्वीकार किया जायेगा | प्रतिभागियों को कार्यक्रम स्थल पर पूरी अवधि के लिए रहना अनिवार्य है | सभी प्रतिभागियो को:

  • जेंडर, महिला अधिकार, विकास या यूवा के मुद्दों पर कार्य का कम से कम 2 साल का अनुभव हो या
  • महिला अधिकार या महिला नेतृत्व की संस्था के साथ कार्य या 
  • किसी महिला समूह के साथ या स्वतंत्र रूप से विकलांगता, लेस्बियन, ट्रांसजेंडर या सेक्स वर्कर्स  के अधिकार पर कार्य का अनुभव होना आवश्यक है 

 

प्रशिक्षण शुल्क

यह प्रशिक्षण निःशुल्क है| क्रिया सहभागियों के रहने व खाने का प्रबंध करेगी |प्रत्येक कमरे में दो प्रतिभागियों के रहने की व्यवस्था की जाएगी | आने जाने का टिकट (2nd A/C ट्रेन) का भुगतान भी क्रिया द्वारा किया जायेगा |

 

तिथि और स्थान

नारीवादी नेतृत्व , आंदोलन निर्माण और अधिकार प्रशिक्षण, 3 – 7 सितम्बर के दौरान नई दिल्ली में आयोजित किया जायेगा |     

    

आवेदन

आवेदन पत्र हमें जुलाई 20, 2018 तक या उससे पहले पहुँच जाने चाहिए| निर्धारित तिथि के बाद कोई भी आवेदन पत्र स्वीकार नहीं किये जायेंगे |केवल चुने हुए प्रतिभागियों को चुनाव की सूचना अगस्त 3, 2018 तक भेजी जायेगी| 

 

क्रिया : एक परिचय

वर्ष 2000 में स्थापित, क्रिया एक नारीवादी मानव अधिकार संस्था है जो दिल्ली, भारत, में स्थित है| क्रिया महिलाओं और किशोरियों को अपने मानव अधिकार की बात कहने, मांग करने और उनको प्राप्त करने के लिए सशक्त करती है | इसके अतिरिक्त, क्रिया मानव अधिकार आंदोलनों और नेटवर्क से जुड़े साथियों के साथमिलकर, सभी के यौनिक और प्रजनन स्वास्थ्य और अधिकारों की स्वतंत्रता के लिए कार्य करती है| क्रिया सामुदायिक, राष्ट्रीय, प्रादेशिक और अन्तराष्ट्रीय मंचो के माध्यम से सकारात्मक सामाजिक बदलाव के लिए पैरवी करती है और सामाजिक कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण के अवसर प्रदान करती है|

 

इस प्रशिक्षण के आयोजन को सहयोग प्रदान करने के लियेक्रिया ओक फाउंडेशन का धन्यवाद करती है

 

Feminist Leadership, Movement Building and Rights Institute - Hindi

September 3-7, 2018

New Delhi

 

Click here to download the application form

 

Send your applications to flmbari.hindi@creaworld.org

 

Or by post to CREA office:

 7, Jangpura B, (2nd Floor), Mathura Road, New Delhi - 110014, India

 Phone: +91-11-24377707/24377700

 Or

by fax to : +91-11-24377708

 

Last Date to apply: July 20, 2018

 

Organised by CREA, New Delhi, the Feminist Leadership, Movement Building and Rights Institute (FLMBaRI) is a five-day long, residential Institute, conducted in Hindi.

 

The fifth in this series, FLMBaRI-Hindi is designed to strengthen feminist leadership, advocacy, and strategies for building collective power for social transformation. It has been designed for women who work in senior or middle-level positions of leadership in non-government organisations (NGOs) as well as independent activists.

 

Course Content

FLMBaRI-Hindi will enable the participants to identify different intersections, interactions, common spaces and challenges that social movements encounter when collaborating on issues of women's human rights. The key topics to be covered in the Institute are:

  • Leadership
  • Feminism
  • Feminist Leadership 
  • Power 
  • Patriarchy
  • Violence against Women
  • Caste and Gender 
  • Women's Movement 

 

Activists and academics will teach the course using classroom instruction, group work, case studies, simulation exercises and films. 

 

Faculty members from 2017 Institute

  • Dipta Bhog
  • Gauri Choudhary
  • Purnima Gupta
  • Kusum
  • Swarnlata Mahilkar
  • Shalini Singh
  • Lavanya Mehra
  • Pushpa
  • Nandini Rao

 

Quotes from 2017 Institute participants

 

"We do have power even when we are powerless. At times people use this powerlessness as their power." - A participant

 

"How connecting power and patriarchy, the gender norms are in different ways interlinked and established in the society." - A participant

 

Participants and Selection Criteria

All women including those identifying as women working in non-government organisations or as activists on women's issues in India can apply for this training. Thirty participants will be selected based on their applications. The selected participants will require to stay at the training venue for the entire duration of the training. The participants must: 

  • Have a minimum of 2 years experience working on gender issues, women's rights, development and/or youth activism or
  • Be from women's rights or women-led organisations or
  • Be working with or be from women-led groups working on disability, lesbian, trans*, sex worker rights

 

Cost of Participation

There is no course fee. CREA will make arrangements for accommodation and meals during the duration of the Institute. For stays - participants will be given rooms on Twin-sharing basis. Return tickets (only 2nd AC train tickets) will be reimbursed by CREA. 

 

Venue and Dates

September 3 - 7, 2018, New Delhi.

 

N.B.

The applications are due on or before July 20, 2018. Applications received after the last date will not be considered. Confirmation will be sent to ONLY selected candidates by August 3, 2018. 

 

Organiser

Founded in 2000, CREA is a feminist human rights organisation, based in New Delhi, India. It is one of the few international women's rights organisations based in the global South, led by Southern feminists, which works at the grassroots, national, regional, and international levels. Together with partners from a diverse range of human rights movements and networks, CREA works to advance the rights of women and girls, and the sexual and reproductive freedoms of all people. CREA advocates for positive social change through national and international fora, and provides training and learning opportunities to global activists and leaders through its Institutes. 

 

We thank Oak Foundation for their support in organising this Institute.